08 March 2021 , Monday

मथुराः ग्रामीणों ने राशन डीलर पर लगाए कई गंभीर आरोप

रिपोर्ट : समाचार TODAY
Official | गौतम बुद्ध नगर/नोएडा

3 Aug, 2020

315 ने देखा




कोरोना वायरस से उत्पन्न हुए संकट के दौर में सरकार भले ही आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लोगों को राहत देने के लिए राशन वितरण प्रणाली को पारदर्शी बनाने पर जोर दे रही है, लेकिन जिन डीलरों को राशन सामग्री के वितरण की जिम्मेदारी दी गई है वे गरीबों का हक डकारने में लगे हुए है। सरकारी सस्ते गल्ले की दुकानों पर राशन की कालाबाजारी की जा रही है। इतना ही नहीं, जनता को कम राशन दिया जा रहा है। ऐसा एक मामला मथुरा से सामने आया है। जहां ग्रामीणों ने राशन डीलर पर गंभीर आरोप लगाए है। ग्रामीणों ने बताया कि सरकार गरीबों को मुफ्त राशन देने की बात कह रही है लेकिन राशन डीलर कालाबाजारी करने से बाज नही आ रहा है ग्रामीणों का आरोप है राशन डीलर द्वारा प्रत्येक व्यक्ति से 20 रुपए प्रत्येक कार्ड पर और प्रत्येक यूनिट पर 5 रुपये ले रहा है और किसी किसी के राशन पर यूनिट की कटौती भी की जा रही है। दरअसल पूरा मामला थाना फरह के गांव बेरी घड़ी का है। यहां राशन डीलर और बेरी गांव के कुछ दलालों द्वारा राशन बटवाया जा रहा है जिससे गांव के लोगों को तमाम दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। जब इस समस्या को लेकर करणी सेना संगठन के पदाधिकारियों ने मीडिया को सूचना दी तो राशन डीलर द्वारा प्रत्येक व्यक्ति से प्रत्येक कार्ड पर 20 रुपए लेने का वीडियो सामने आया है। ग्रामीणों का आरोप है कि पहले उन्हे राशन 20 किलो मिलता था लेकिन अब केवल उन्हे 10 किलो मिला रहा है। अगर कोई इसका विरोध करता है तो उसे कोटेदार राशन नही देता है। वहीं ग्रामीणों का कहना है कि जब मामले की शिकायत डीएसओ अधिकारी से की जाती है तो केवल जांच का आश्वासन देकर मामले को टाल दिया जाता है। राशन डीलरों पर कोई कार्यवाही नही होती है।

FACEBOOK TwitCount LINKEDIN Whatsapp



संयोगिक खबरें

© COPYRIGHT Samachar Today 2019. ALL RIGHTS RESERVED. Designed By SVT India